Bollywood ActorEntertainment

Shahrukh और Aryan Khan के समर्थन में आए Javed Akhtar, जानें बॉलीवुड को टार्गेट किये जाने पर क्या कहा

सुपर स्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को क्रूज ड्रग्स मामले में मुंबई की आर्थर रोड जेल में रखा गया है. जिस पर संवाद लेखक जावेद अख्तर ने नाम लिए बिना उनका समर्थन किया है.

Mumbai cruise drugs case: मुंबई के क्रूज ड्रग्स मामले में सुपर स्टार शाहरुख खान का बेटा आर्यन खान मुंबई की आर्थर रोड जेल में बंद है. इस बीच जाने-माने गीतकार, स्क्रिप्ट राइटर और संवाद लेखक जावेद अख्तर, शाहरुख और आर्यन खान के समर्थन में आगे आए हैं. उन्होंने शाहरुख खान और आर्यन खान का नाम लिए बगैर जांच के नाम पर बॉलीवुड और इंडस्ट्री के बड़े-बड़े सेलिब्रिटीज को निशाना बनाने की बात कही है.

शाहरुख और आर्यन खान के समर्थन में बोले जावेद अख्तर

मुम्बई में जुहू स्थित एक बुक स्टोर में ‘चेंजमेंकर्स’ नामक किताब के लॉन्च के मौके पर बॉलीवुड को निशाना बनाए जाने की बात से जुड़े एबीपी के सवाल पर जावेद अख्तर ने कहा, “मैं तो यही कहना चाहूंगा कि एक पोर्ट (अडानी के पोर्ट) के ऊपर एक बिलियन डॉलर की कोकिन मिलती है और एक जगह कहीं क्रूज पर 1200 लोग मिलते हैं और वहां पर 1.30 लाख कीमत की चरस बरामद की जाती है, तो एक बहुत बड़ी नैशनल न्यूज़ बन जाती है. बिलियन डॉलर के कोकिन के बारे में मैंने तो हेडलाइन तक नहीं देखी. पांचवें या छठें पेज पर न्यूज आ जाती है. फिर कहा जाता है कि हम इस पोर्ट पर जहाज ही नहीं आने देंगे. अरे जो मिला है उसके बारे में तो पहले बात करो.”

बड़ी शख्सियत होने की कीमत चुका रहा बॉलीवुडः अख्तर

जावेद अख्तर ने अपनी बात को आगे जारी रखते हुए कहा, “हाई प्रोफाइल (शख्सियत) होने की ये कीमत बॉलीवुड को चुकानी पड़ रही है. जब आप हाई प्रोफाइल होते हैं तो किसी को नीचे खींचने में, आप पर पत्थर फेंकने में, उस पर कीचड़ उछालने में सबको मजा आता है. अगर आप कुछ भी नहीं है तो किस को मजा आएगा आप पर पत्थर फेंकने में?”

जब एबीपी न्यूज़ ने शाहरुख खान और उनके बेटे आर्यन खान को निशाना बनाये जाने को लेकर सीधे तौर पर जावेद अख्तर से सवाल पूछा तो उन्होंने दोनों का नाम लेते हुए इस बारे में विस्तार से कुछ भी कहने से इनकार कर दिया.

बांग्लादेश में हिंदुओं को निशाना बनाए जाने की भी निंदा की

बांग्लादेश में हिंदुओं की हो रही हत्याओं और उन्हें निशाना बनाए जाने को लेकर भी जावेद अख्तर ने अपनी राय रखी. उन्होंने इससे संबंधित एक सवाल पर अंग्रेजी में‌ अपनी राय रखते हुए कहा, “जहां कहीं भी अल्पसंख्यकों के खिलाफ अन्याय हो, जहां कहीं भी दमन हो, मैं चिंतित हो जाता हूं. फिर चाहे दुनिया में कहीं भी ऐसा क्यों न हो. ये बेहद शर्म की बात है कि ऐसा बांग्लादेश में हो रहा है. हसीना शेख की पहचान एक उदारवादी नेता के तौर पर बनी थी और उनके नाक के नीचे ऐसी वारदातें हो रहीं हैं. ऐसी घटनाएं भारत में हो या फिर कहीं बाहर, ये बेहद चिंता का विषय है.”

अलमास विरानी और श्वेता समोटा द्वारा महिलाओं को केंद्रित कर‌ लिखी किताब ‘गेमचेंजर्स’ के विमोचन के‌ मौके पर जावेद अख्तर के अलावा अभिनेत्री नंदिता दास और बॉलीवुड में कई फिल्मों की स्क्रिप्ट लिख चुकी कनिका ढिल्लन भी मौजूद थीं. इस मौके पर सभी ने दुनिया भर में महिलाओं द्वारा लाए जा रहे बदलाव को भी रेखांकित किया. उल्लेखनीय है कि इस किताब की प्रस्तावना अभिनेत्री तापसी पन्नू ने लिखी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button