Entertainment

इस बात पर नाराज होकर अमरीश पुरी ने जड़ दिया था गोविंदा को तमाचा, कहा था गंदी नाली का कीड़ा

हिंदी फिल्म जगत में खलनायकों की अलग साख रही है। पर्दे पर लोगों ने विलेन के ऐसे ऐसे रूप देखे हैं कि असल जिंदगी में भी कई बार उन्हें विलेन ही समझ लिया जाता था। बॉलीवुड के ऐसे ही एक दिग्गज खलयानकों की फेरहिस्त में अमरीश पुरी का नाम आता है जिन्होंने अपने करियर में एक से बढ़कर एक किरदार निभाए। अमरीश पुरी बॉलीवुड के टॉप विलेन में से एक माने जाते हैं। अपने करियर में उन्होंने पॉजिटिव और कॉमिक रोल भी किए लेकिन पर्दे पर जब भी वो खलनायक बनकर आए लोगों की रूह कांप गई।

आज भले ही वो हमारे बीच मौजूद ना हो लेकिन उनके निभाए किरदार आज भी लोगों के जेहन में बसे हुए हैं। उन्होंने फिल्म रेशमा और शेरा से अपने करियर की शुरूआत की थी लेकिन खलनायक बनकर उन्होंने सबसे ज्यादा प्रसिद्धि पाई। हालांकि पर्दे के पीछे भी कई ऐसे किस्से हुए थे जिससे उनको याद किया जाता है। आज हम आपको ऐसे ही एक पुराने किस्से के बारे में बताते हैं।

अमरीश पुरी को आया था गोविंदा पर गुस्सा

अमरीश पुरी ने फिल्मी पर्दे पर हीरो के साथ कई बार पंगा लिया और उनकी हालत खराब कर दी थी। हालांकि ये किस्सा अमरीश पुरी की असल जिंदगी की बताया जाता है जहां उन्होंने बॉलीवुड के एक सुपरस्टार को गलत शब्द बोल दिए थे। इतना ही नहीं कहा जाता है कि उन्होंने गुस्से में उनके ऊपर हाथ भी छोड़ दिया था। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो अमरीश पुरी का ये गुस्सा किसी और पर नहीं बल्कि 90 के दशक के सुपरस्टार गोविंदा पर निकला था।

खबरों की मानें तो अमरीश पुरी ने एक दिन गुस्से में आकर गोविंदा को गंदी नाली का कीड़ा कह दिया था। इतना ही नहीं उन्होंने गोविंदा को तमाचा मार दिया था। वैसे तो अमरीश पुरी एक बेहद ही सुलझे कलाकार कहे जाते थे जिन्होंने इंडस्ट्री में हमेशा सबसे अच्छे संबंध बनाकर रखे लेकिन आखिर ऐसा क्या हुआ था कि गोविंदा पर उन्हें इतना गुस्सा आ गया था।

गोविंदा को पड़ा था तमाचा

दरअसल बताते हैं कि एक फिल्म की शूटिंग के दौरान गोविंदा शाम के वक्त पहुंचे थे जबकि शूट का वक्त सुबह का था। इस बात से अमरीश पुरी काफी नाराज हो गए थे। ऐसे में जब गोविंदा शाम को लेट लतीफी के साथ पहुंचे तो अमरीश अपने गुस्से पर काबू नहीं रख पाए और गोविंदा को खरी खोटी सुना दी। इतना ही नहीं गुस्से में उन्होंने गोविंदा पर हाथ भी छोड़ दिया। हालांकि गोविंदा
भी अपने सीनियर कलाकार के इस गुस्से को सहन कर गए।

अमरीश के साथ काम करने वाले एक्टर्स ने हमेशा यही बताया कि उनका बर्ताव साथी कलाकारों के साथ हमेशा अच्छा रहा है। पर्दे पर उन्होंने जबरदस्त सफलता देखी लेकिन इस बात का कभी घमंड नहीं होने दिया। फिल्मी सेट पर उन्हें हमेशा दूसरे कलाकारों से ज्यादा सम्मान मिलता था। अपने 35 साल के करियर में उन्होंने करीब 400 फिल्मों में काम किया था। उन्होंने नायक, मिस्टर इंडिया, दामिनी जैसी फिल्मों में नकारात्मक किरदार निभाकर लोगों का डराया तो वहीं दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे, मुझसे शादी करोगी, घायल और विरासत जैसी फिल्मों से भी लोगों के दिल में जगह बनाईं। आज भले ही वो हमारे बीच मौजूद ना हो लेकिन उनके किरदार हमारे दिलों में हमेशा जिंदा रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button