Entertainment

कभी बाप चलते थे स्कूल में कैंटीन ,आज बेटा है बॉलीवुड का सुपरस्टार

किसी भी बच्चे का पहला शिक्षक उसके माता – पिता ही होते है। क्योंकि हम सभी के माता – पिता हमारे जन्म लेने के बाद से ही वो हमे हमारी उम्र के हिसाब से सीखाने लग जाते है। चाहें वो कोई भी व्यक्ति क्यों ना हो अधिकतर व्यक्ति अपने माता – पिता को अपना आदर्श मानते है। और उनके बताए हुए नक्शे कदम पर चलते हैं तथा उनसे ही प्रेरित होते है। ऐसा ही कुछ आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से एक ऐसे स्टार के बारे में बताएंगे। जो अपने फादर को अपना हीरो और अपना आदर्श मानता है। जो उनकी बताई हुई शिक्षा को आज भी थाने हुए है।

कभी शारुख खान के बाप चलते थे स्कूल में कैंटीन 

और वो है बॉलीवुड इंडस्ट्री के फेमस कलाकार अभिनेता शाहरुख खान । जो अपने पिता को अपना आदर्श मानते थे। आज हम आपको उनसे जुड़ी कुछ रोचक बताते बताएंगे। अभिनेता शाहरुख के फादर के नाम मीर ताज मोहम्मद खान था। वो एक स्वतंत्रता सेनानी थे । वो दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में मेस चलाने का कार्य करने का फैसला किया। जहा इस ड्रामा स्कूल में वो हमेशा अपने बेटे शाहरुख को संग ले जाया करते थे। अभिनेता ने यही से एक्टिंग के क्षेत्र में करियर बनाने का सोचा। अभिनेता शाहरुख ने “सूरज का सातवां घोड़ा” ड्रामा देखा था।

इस दौरान वो राज बब्बर, सुरेखा सीकरी, अजीत वच्छानी जैसे कई बड़े दिग्गज स्टार से मिले। इन लोगो से अभिनेता को मालूम हुआ कि आखिर एक्टिंग होती क्या है? जिसके बाद से ही उन्होंने अपने मन में विचार कर लिया था की । उन्हे इस क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना है। परंतु इस बात को बताने की हिम्मत शाहरुख खान अपने पिता से नहीं हो रही थी।वही जब उनके फादर ने उनसे सवाल किया की अपने जीवन में क्या करना चाहते हो? तो उन्होंने बोला की,कुछ भी नहीं । जिसके बाद उनके फादर ने खामोशी के साथ कहा कि। “जो व्यक्ति कुछ नहीं करता है वो कमाल करता है” । उनकी इस बात को सुन शाहरुख खान काफी आश्चर्यचकित हुए । वही उनके फादर को खुद में यह भरोसा हो गया था की उनका बेटा हीरो बनना चाहता है।

आज बेटा है बॉलीवुड का सुपरस्टार 

जिसके बाद किंग खान की जिंदगी में उनके सपने की शुरुआत हुई उन्होंने बैरी जॉन, सईद मिर्जा जैसे कई बड़े स्तर से एक्टिंग सीखा। जिसके बाद उन्हें टेलीविजन धारावाहिक में कार्य करने का अवसर प्राप्त हुआ । टीवी सीरियल में काम करने के बाद अभिनेता फिल्मी दुनिया में कदम रख दिए। किंग खान ने अभिनेत्री हेमा मालिनी की फिल्म “दिल आशना है” में अहम किरदार में नजर आए। पैरेंट्स के गुजर जाने के बाद अभिनेता शाहरुख खान दिल्ली शहर छोड़कर ।

khan 1

सिर्फ सौ रुपए लिए और अपने ख्वाब पूरा करने मुंबई शहर चल पड़े। अभिनेता शाहरुख ने एक बार अपने बातचीत के दौरान बताया था की। जब मैं मुंबई के बांद्रा स्टेशन के समीप एक होटल के पास था। तब उन्होंने ऊपर आकाश की ओर देखकर कहा। “मैं तुम्हें एक दिन जीत लूंगा” । जहां वो दिन था जब अभिनेता सौ रुपए जेब में लिए अपने ख्वाब पूरा करने दूसरे शहर में चल दिए। और आज का समय है की अभिनेता आज करोड़ो की संपत्ति के मालिक है।लेकिन इस मुकाम को हासिल करना इतना आसान नहीं था।अभिनेता शाहरुख खान ने इसके लिए काफी संघर्ष किया है। और आज वो इस इंडस्ट्री के सफल अभिनेता के तौर पर जाने जाते है।जिन्होंने अपने दम पर पूरी दुनिया में पहचान बनाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button