Bollywood ActorEntertainment

पिता शाहरुख से मिलकर आर्यन की आंखों में आ गए थे आंसू, जानिए जेल में 18 मिनट तक क्‍या-क्‍या हुआ

शाहरुख खान (Shahrukh Khan) जब आर्थर रोड जेल में आर्यन खान (Aryan Khan) से मिलने पहुंचे तो पिता को सामने देख बेटा भावुक हो गया। बताया जाता है कि आर्यन की आंखों में आंसू (Aryan Khan Emotional) थे। शाहरुख भी इमोशनल थे। जानिए जेल में उस 18 मिनट में क्‍या-क्‍या हुआ।

कल्‍पना कीजिए, कैसा होगा वो पल, जब एक पिता अपने लाडले से 17 दिन बाद मिला हो। खासकर तब जब त्‍योहार के इस मौसम में वह लाडला कालकोठरी में बंद है। मिठाई तो दूर, उसके पास मनमर्जी का खाना भी नहीं है। गुरुवार को बॉलिवुड के सुपरस्‍टार शाहरुख खान (Shahrukh Khan) ड्रग्‍स केस में जेल में बंद अपने बेटे आर्यन खान (Shahrukh Meets Aryan Khan) से मिलने पहुंचे थे। 2 अक्‍टूबर को क्रूज टर्मिनल से NCB ने आर्यन को हिरासत में लिया था। तब के बाद से यह पहला मौका है, जब बाप और बेटे का आमना-सामना हुआ। समय का चक्र देख‍िए, कभी आलीशान घर ‘मन्‍नत’ में बाप-बेटे से ज्‍यादा दोस्‍तों की तरह दिखने वाली यह जोड़ी आज मजबूर थी और कानून के सामने घुटनों पर भी। आज वहां कोई सुपरस्‍टार नहीं था। कानून सब के लिए बराबर है और शाहरुख के साथ भी यही हुआ। जेल की चौखट पर पहुंचे तो आधार कार्ड दिखानी पड़ी, पहचान बतानी पड़ी। लाइन में लगकर टोकन लेना पड़ा। अंदर गए तो बेटा सामने आया, वो भी सिर्फ 18 मिनट के लिए। शाहरुख का कलेजा यकीनन कचोट गया होगा, क्‍योंकि जब बेटा आर्यन सामने आया तो उसकी आंखों में आंसू (Aryan Khan Emotional) थे।

आइए अब आपको बताते हैं कि शाहरुख के आर्थर रोड जेल पहुंचने और बेटे से 18 मिनट की मुलाकात के बाहर बाहर निकलने तक वहां क्‍या-क्‍या हुआ:

– सुबह करीब 9:15 बजे शाहरुख खान आर्थर रोड जेल पहुंचे। बाहर मीडिया का हुजूम पहले से मौजूद था।

– जेल की चौखट से एंट्री के वक्‍त मीडिया से शाहरुख से बात करने की कोश‍िश की, लेकिन उन्‍होंने हाथ जोड़ लिए।

– जेल पहुंचते ही शाहरुख खान से पहचान बताने को कहा गया। शाहरुख ने अपना आधार कार्ड दिया। मुलाकात की इजाजत वाले कागजात जेल अध‍िकारी को सौंपे।

– कागजात की जांच होने तक शाहरुख वहीं कतार में खड़े रहे। इसके बाद उन्‍हें टोकन दिया गया और जेल के अंदर भेजा गया।

– जेल मैनुअल के हिसाब से शाहरुख खान को बेटे से मिलने के लिए 20 मिनट का वक्‍त दिया गया। हालांकि, वह 18 मिनट में ही वहां से निकल गए।

– कोरोना संक्रमण के कारण अब जेल के अंदर कैदियों और उनसे मिलने वालों के बीच एक शीशे की दीवार रहती है। दोनों आमने-सामने बैठते हैं। शीशे के दोनों तरफ इंटरकॉम लगे होते हैं, जिन पर आमने-सामने बैठकर बात की जा सकती है।

– शाहरुख के साथ भी ऐसा ही किया गया। जब वह आर्यन से मुलाकात कर रहे थे तब उनके साथ जेल के चार गार्ड भी मौजूद थे।

– यहां यह बात भी गौर करने वाली है कि कोविड-19 संक्रमण को देखते हुए इससे पहले कैदियों को सिर्फ फोन कॉल या वीडियो कॉल पर अपने परिजनों से बातचीत की इजाजत थी। लेकिन नई गाइडलाइंस के तहत अब शीशे की दीवार के आर-पार बैठकर मुलाकात की इजाजत दी गई है।

– बताया जाता है कि जब आर्यन खान को गार्ड्स वहां लेकर आए तो वह थोड़े मायूस थे। पिता को देखकर आर्यन भावुक हो गए, उनकी आंखों में आंसू थे। शाहरुख अपने बेटे का ढांढस बांधते दिखे। इसके बाद दोनों ने इंटरकॉम पर करीब 18 मिनट बात की।

– रिपोर्ट्स के मुताबिक, आर्यन ने पिता को बताया कि उन्‍हें जेल का खाना अच्‍छा नहीं लगता। इस पर शाहरुख ने जेल के अध‍िकारियों से पूछा भी कि क्‍या वह बेटे के लिए घर से बना हुआ साधाराण भोजन भेज सकते हैं? इस पर अध‍िकारियों ने बताया कि यह जेल के नियमों के ख‍िलाफ है। ऐसा नहीं हो सकता।

– शाहरुख तय समय से 2 मिनट पहले ही मुलाकात खत्‍म कर खुद ही वहां से निकल गए। जेल सुप्रीटेंडेंट के मुताबिक, किसी भी सामान्य कैदी या आरोपी के परिजन की तरह ही शाहरुख खान के साथ भी जेल में बर्ताव किया गया। उन्‍हें कोई विशेष सुविधा नहीं दी गई।

– शाहरुख खान दोबारा जेल के अध‍िकारी के पास पहुंचे। उनका धन्‍यवाद किया और फिर जेल के बाहर जमा भीड़ के बीच से गुजरते हुए सीधे अपनी कार में आकर बैठ गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button