Bollywood ActressEntertainment

जानिए, कितनी संपत्ति की मालकिन हैं कंगना रनौत, एक फिल्म की लेती हैं कितनी फीस?

नई दिल्ली: पद्मश्री अवॉर्ड से सम्मानित बॉलीवुड अभिनेत्री अपने उस बयान को लेकर सोशल मीडिया पर घिर गई हैं, जिसमें उन्होंने कहा कि देश को 1947 में मिली आजादी एक भीख थी और असली आजादी 2014 के बाद मिली। दरअसल कंगना रनौत एक न्यूज चैनल के कार्यक्रम में पहुंचीं थी, जहां उन्होंने यह बयान दिया। कंगना के इस बयान को लेकर उनके खिलाफ शिकायत भी दर्ज कराई गई है। ऐसा पहली बार नहीं है, जब कंगना रनौत विवादों में आई हैं… इससे पहले भी उनके कुछ बयानों और सोशल मीडिया पोस्ट पर जबरदस्त हंगामा मच चुका है। ऐसे में आइए जानते हैं कि बॉलीवुड की ‘क्वीन’ कंगना रनौत कितनी संपत्ति की मालकिन हैं?

एक फिल्म के लिए लेती हैं इतनी फीस

कंगना रनौत का नाम बॉलीवुड की उन अभिनेत्रियों में शामिल हैं, जिन्होंने बिना किसी फिल्मी बैकग्राउंड के, अपने अभिनय के दम पर फिल्म इंडस्ट्री में खास मुकाम हासिल किया है। ‘सीए नॉलेज’ वेबसाइट से मिली जानकारी के मुताबिक, कंगना रनौत के पास करीब 97 करोड़ रुपए की संपत्ति है और वो एक फिल्म के लिए लगभग 11 करोड़ रुपए फीस लेती हैं। कंगना की इनकम का मुख्य जरिया फिल्में और ब्रांड प्रमोशन है। ब्रांड प्रमोशन की उनकी फीस करीब डेढ़ करोड़ रुपए है।

मनाली में हैं करीब 20 करोड़ की हवेली

कंगना रनौत हिमाचल प्रदेश की रहने वाली हैं और मनाली में उनकी एक हवेली है, जिसकी कीमत लगभग 20 करोड़ रुपए है। कंगना के पास बीएमडब्ल्यू 7 सीरीज और मर्सिडीज बेंज सहित कई लग्जरी गाड़ियों का कलेक्शन है। एक्टिंग के अलावा कंगना रनौत फिल्म प्रोडक्शन की लाइन में भी उतर चुकी हैं और बहुत जल्द उनके प्रोडक्शन हाऊस ‘मणिकर्णिका फिल्म्स’ के बैनर तले फिल्म ‘टिकू वेड्स शेरू’ आने वाली है। बॉलीवुड में सबसे ज्यादा इनकम टैक्स भरने वाली अभिनेत्रियों में कंगना रनौत भी शामिल हैं।

कंगना ने आखिर ‘आजादी’ को लेकर कहा क्या था?

कंगना रनौत के जिस बयान को लेकर सोशल मीडिया पर हंगामा मचा हुआ है, वो उन्होंने न्यूज चैनल टाइम्स नाऊ के एक कार्यक्रम में दिया था। इस कार्यक्रम में कंगना ने कहा, ‘भारत को 1947 में जो आजादी मिली, वो आजादी नहीं थी, बल्कि एक भीख थी। हम लोगों को असली आजादी 2014 में मिली है।’ कंगना के इस बयान को लेकर कांग्रेस के अलावा भारतीय जनता पार्टी के सांसद वरुण गांधी ने भी उनके ऊपर निशाना साधा है। वरुण गांधी ने ट्वीट कर पूछा है कि इसे पागलपन कहा जाए या फिर देशद्रोह?

गौरव वल्लभ बोले- सरकार वापस ले पद्मश्री सम्मान

कंगना रनौत के बयान पर कांग्रेस के प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने कहा कि जब अयोग्य लोगों को पद्म सम्मान ने नवाजा जाता है, तो ऐसा ही होता है। गौरव वल्लभ ने कहा, ‘कंगना के इस बयान से हमारे देश की आजादी के आंदोलन और स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान हुआ है, इसलिए मैं मांग करता हूं कि वो पूरे देश से माफी मांगें। महात्मा गांधी, सरदार भगत सिंह, सुभाष चंद्र बोस और सरदार वल्लभभाई पटेल का अपमान करने वाली ऐसी महिला से भारत सरकार को तुरंत प्रतिष्ठित पद्म सम्मान वापस लेना चाहिए। अगर सरकार ऐसे लोगों को पद्म सम्मान दे रही है तो इसका सीधा मतलब है कि वो भी इस तरह की सोच वाले लोगों को बढ़ावा दे रही है।’

वरुण गांधी के बयान पर क्या बोलीं कंगना

भाजपा सांसद वरुण गांधी के ट्वीट करने के बाद कंगना रनौत ने भी पलटवार करने में देरी नहीं की। कंगना रनौत ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी में वरुण गांधी के ट्वीट पर जवाब देते हुए लिखा, ‘मैंने स्पष्ट तौर पर कहा था कि 1857 का स्वतंत्रता संग्राम हमारे देश में उठी पहली क्रांति थी और जिसे दबा दिया गया…इसी क्रांति की वजह से अंग्रेजों ने हमारे ऊपर काफी अत्याचार और जुल्म किए और करीब एक सदी के बाद गांधी के कटोरे में भीख दे दी गई…जा और रो अब।’

कंगना ने बताई अगले पांच साल की प्लानिंग

इस कार्यक्रम के दौरान कंगना रनौत ने अपनी निजी लाइफ को लेकर भी एक बड़ा खुलासा किया। दरअसल कंगना से जब पूछा गया कि अगले पांच सालों में वो खुद को कहां देखना चाहती हैं तो उन्होंने कहा कि अगले पांच साल के दौरान वो शादी करके बच्चे पैदा करना चाहती हैं। कंगना रनौत ने इशारों-इशारों में कहा कि उनकी लाइफ में कोई है और बहुत जल्द सभी को इस बारे में पता चल जाएगा।

‘मैंने वीर सावरकर की सेल के दर्शन किए’

हाल ही में कंगना रनौत अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के काला पानी की उस जेल में भी पहुंचीं थी, जहां सावरकर को रखा गया था। कंगना रनौत ने अपने इंस्टाग्राम पर जेल की तस्वीरें शेयर करते हुए लिखा, ‘आज अंडमान द्वीप पहुंचकर मैंने पोर्ट ब्लेयर की सेलुलर जेल में वीर सावरकर की सेल के दर्शन किए। मैं अंदर तक हिल गई। जब देश में अमानवीयता अपने चरम पर थी, तो सावरकर जी के रूप में मानवता भी अपने चरम पर पहुंची और मैंने उनकी आंखों में वो मानवता देखी। उन्होंने बेहद मजबूती के साथ हर क्रूरता का कड़ा विरोध किया।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button