Entertainment

कभी दो वक्त की रोटी नसीब नही थी, कपिल शर्मा शो फेम खजूर का झोपड़े से महल तक का सफर जानें

Patna: बिहार के पटना का रहने वाला 13 साल का वो लड़का जिसे ‘द कपिल शर्मा शो’ (The Kapil Sharma Show)से मिली नई पहचान। जिसका नाम दिया था, खजूर। कपिल शर्मा शो का हिस्सा बनने से पहले खजूर को लोग उनके असल नाम कार्तिकेय राज (Kartikey Raj) से ही जानते थे। लेकिन साल 2016 में जब वे कपिल के नजरों में आए तो उनकी ना सिर्फ किस्मत बदली, बल्कि टीवी की दुनिया में वो नन्हें हास्य कलाकार के रूप में भी नाम कमाने लगे।

कार्तिकेय राज के पास आज भले ही नेम-फेम और पैसा गाड़ी सब आ गया हो लेकिन एक वक्त ऐसा भी रहा जब उनके परिवार के पास दो वक्त की रोटी भी नसीब नहीं हो पाती थी। कपिल के शो में अपनी कॉमेडी (Comedy) से धमाल मचा रहे इस नन्हे कलाकार के संघर्ष (Struggle) के बारे में सुनकर आपकी आंखे नम (Tears to your eyes) हो जायेंगी।

कौन है कॉमेडियन का बादशाह कार्तिक

कार्तिकेय राज पटना के एक छोटे से गांव सैदपुर के रहने वाले हैं, कार्तिकेय राज बेहद ही गरीब परिवार से ताल्लुक रखते हैं। कार्तिकेय के पिता मजदूरी कर अपना घर का खर्चा चलाया करते थे। गरीबी काफी थी, फिर भी कार्तिकेय के पिता अपना पेट काटकर भी उनको और उनके भाई-बहनों को पढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़े।

नसीब से मिला दो वक्त का खाना

कार्तिकेय (Khajur) के घर में इतनी गरीबी थी कि मुश्किल से ही दो वक्त का खाना बन पाता था। कभी रोटी बनती तो तो कभी सब्जी नहीं। और कभी सिर्फ चावल से ही पूरा दिन काम चलाना पड़ता। कभी अगर घर में दाल,चावल, सब्जी बन जाता तो कार्तिकेय उसे पार्टी कहते थे।

सफलता का रास्ता दिखाया भाई ने

कार्तिकेय अपने छोटे भाई अभिषेक के साथ अक्सर स्कूल जाया करते थे लेकिन पढ़ाई में उनका जरा भी मन नहीं लगता था। वो अपना सारा दिन बस्ती में बच्चों के साथ खेल कर बिताया करते थे। भाई ने ही कार्तिकेय को एक्टिंग सीखने के लिए कही। इसी के चलते उन्होंने सरकार से सहायता प्राप्त एक एक्टिंग स्कूल (किलकारी) में एडमिशन लिया जहां एक्टिंग सिखाई जाती थी। दोनों ने काफी समय तक वह एक्टिंग सीखीं।

बेस्ट ड्रामेबाज ने बदली किस्मत

साल 2013 में कार्तिकेय की किस्मत ने तब करवट ली जब इसी साल जीटीवी के चर्चित कॉमेडी शो ‘बेस्ट-ड्रामेबाज’ (Best Dramebaaz) में चयन हुआ। शो में कार्तिकेय के चयन से उनका परिवार काफी खुश था। यह परिवार के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि हासिल करने जैसा थी। इसके बाद शो की टीम ने कार्तिकेय और उनके साथ चयनित और बच्चों को कोलकाता लेकर चली गयी।

होटल में मिला खाना बचाकर घर लाते थे कार्तिकेय

कार्तिकेय जब कोलकाता गए, तो उनको एक बड़े होटल के एसी रूम में रुकवाया गया था। होटल में मिलने वाले खाने को वो आधा खा कर बाकी बचा कर उसे घर लेकर गए। उसे अपनी मां को देते हुए ये कहा कि, उन्होंने कभी बड़े होटल का खाना नहीं खाया इसलिए उसने वो खाना चुरा कर लाए हैं।

खजूर के किरदार से मिली लोकप्रियता

‘बेस्ट-ड्रामेबाज’ शो के छठे राउंड में कार्तिकेय पर कपिल शर्मा की नज़र पड़ी। कपिल कार्तिकेय की एक्टिंग के कायल हो गए थे। उन्होंने शो का ऑफर दिया। कार्तिकेय का ऑडिशन हुआ फिर उन्हें शो का हिस्सा बनने का मौका मिल गया। इसके बाद कार्तिकेय राज ‘खजूर’ के नाम से सभी के दिलों पर छा गए। कार्तिकेय कपिल के शो का सबसे यादगार पल उसे मानते हैं जब वह ऐश्वर्या राय का बेटा बने थे।

गौरतलब है कि 13 साल के कार्तिकेय राज अब मुंबई में रहते हैं। परिवार के कुछ लोग खजूर के साथ ही रहते हैं, बाकि के पटना स्थित घर पर रहते हैं। कार्तिकेय (Khajur) अब एक्टिंग के साथ-साथ अपनी पढ़ाई भी करते हैं। कभी एक वक्त की रोटी के लिए भी मुहाल रहने वाले कार्तिकेय राज टीवी शो के एक एपिसोड से 1-2 लाख रुपए कमाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button