Bollywood ActorBollywood ActressEntertainment

खूब पढ़ी-लिखी हैं शाहरुख खान की बहन शहनाज, लेकिन वक्त ने जैसे छीन लिया सबकुछ

शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) ने बॉलिवुड में अपने दम पर अपनी एक अलग पहचान बनाई है। शाहरुख (Shah Rukh Khan) ने अपनी ऐक्टिंग से लोगों को इस कदर दीवाना बनाया कि फैन्स उनकी तकलीफ में उनके साथ खड़े हो जाते हैं।

शाहरुख की फैमिली की बात करें तो वाइफ गौरी, बेटे आर्यन, अबराम और सुहाना भी खूब चर्चा में रहते हैं। हालांकि, उनकी फैमिली में एक सदस्य ऐसा है, जिनकी चर्चा नहीं के बराबर होती है और वह हैं उनकी बहन शहनाज (Shehnaz Lalarukh), जो लाइमलाइट से कोसों दूर हैं और इसकी वजह भी काफी दर्द’नाक है।

शहनाज का पूरा नाम शहनाज लालारुख है। हाल ही में आर्यन जब जे’ल से घर लौटे थे तब शाहरुख खान के घर के बाहर शहनाज भी नजर आईं। हालांकि, शहनाज जिस हाल में इस तस्वीर में नजर आ रही हैं वह चिंताजनक है। दरअसल शहनाज डि’प्रे’शन के लंबे दौर से गुजरी हैं, जिसका जिक्र शाहरुख खान ने अपने एक पुराने इंटरव्यू में भी किया था।

शाहरुख ने अपने इसी इंटरव्यू में यह भी बताया था कि उनकी बहन शहनाज कितनी ज्यादा पढ़ी-लिखी हैं, लेकिन एक सदमे ने उन्हें किस तरह बर्बाद कर दिया। शाहरुख ने यह किस्सा सुनाते हुए बताया था कि पैरंट्स के गुजर जाने के बाद वह और उनकी बहन शहनाज की क्या हालत हो गई थी और उस दर्द से उनकी बहन कभी वापस नहीं लौट सकीं।

शाहरुख के इस इंटरव्यू का वीडियो उनके फैन क्लब से शेयर किया गया है। उन्होंने बताया कि उनके पिता के निधन के बाद कैसे शहनाज शॉक में चली गई थीं। उन्होंने कहा था, ‘मुझे याद है कि मेरी बहन बिल्कुल सीधी खड़ी रह गई थी। वो हिन्दी में पार्थिव शरीर करते हैं न? पापा की डेड बॉडी देखकर बस वह देखती ही रही, न वो रो रही थी, न कुथ कह रही थी और बस गिर पड़ीं और उनका सिर जमीन से जाकर लगा।’

शाहरुख ने यह भी बताया कि ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ की शूटिंग के दौरान शहनाज बीमार पड़ीं और उन्हें हॉस्पिटलाइज़ करना पड़ा था। डॉक्टर ने उन्हें यहां तक बताया कि वह अब नहीं बच पाएंगी। शाहरुख खान ने बताया कि वह अपनी बहन को स्विट्ज़रलैंड लेकर गए थे और वहां उनका इलाज करवाया। एक तरफ बहन का इलाज चल रहा था वहीं दूसरी ओर शाहरुख खान इस फिल्म का रोमांटिक सॉन्ग ‘तुझे देखा तो ये जाना सनम’ शूट कर रहे थे। हालांकि, शहनाज अपने माता-पिता के जाने का ग़म भुला नहीं पाईं और यह दर्द उनपर हावी होता रहा। शाहरुख ने बताया था कि यह तकलीफ और बढ़ गई जब 10 साल मां भी चल बसीं।

शाहरुख खान ने अपनी बाहन शहनाज के बारे में बातें करते हुए कहा था, ‘शहनाज काफी ज्यादा पढ़ी-लिखी हैं और इंटेलिजेंट भी खूब थीं, लेकिन वह अपने पैरंट्स को खोने का सच कुबूल नहीं कर सकीं।

शाहरुख ने यह भी बताया था कि उन्होंने इस दर्द से खुद को उबारने के लिए झूठा साहस, सेंस ऑफ ह्यूमर पब्लिक के सामने दिखाते रहे, जबकि वह खुद भी उसी तकलीफ से गुजर रहे थे। वह डिप्रेशन से बचने के लिए ऐक्टिंग करते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button