Entertainment

VIDEO : आप अपनी 6 साल की बेटी की शादी 50 साल के आदमी से करेंगे ! साद अशफाक ने पूछे मुसलमानों से तीखे सवाल

पैंगबर मोहम्मद पर बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा की विवादित टिप्पणी का मामला आगे बढ़ता ही जा रहा है। कई संगठन उनकी गिरफ्तारी की मांग भी कर रहे हैं। हालांकि बहुत से लोग ऐसे भी हैं जो उनका समर्थन कर रहे हैं। हाल ही में महाराष्ट्र के भिवंडी में एक मुस्लिम युवक को नूपुर शर्मा का समर्थन करने के लिए गिरफ्तार कर लिया गया। इतना ही नहीं इससे पहले भीड़ ने भी उस शख्स की पिटाई की थी।

नूपुर शर्मा का समर्थन करने वाले शख्स का नाम साद अशफाक अंसारी है जो इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा है। बता दें कि अशफाक ने एक इंस्टाग्राम स्टोरी पोस्ट की जिसमें उसने पैंगबर मोहम्मद और आयशा को लेकर अपने विचार साझा किए। इसके बाद से उसके वायरल हुए पोस्ट पर लोगों ने उसकी पिटाई की और पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

नूपुर शर्मा का समर्थन करने पर हुई गिरफ्तारी

दरअसल पोस्ट में अशफाक ने लिखा था- एक 50 वर्षीय व्यक्ति का 6-9 साल के बच्ची से शादी करना स्पष्ट बाल शोषण है। मुझे नहीं पता कि आप लोग कैसे इसका समर्थन करते हैं। क्या आप अपनी 6 साल की बेटी को 50 साल के आदमी को देंगे (इसके बारे में सोचो)। इसके बाद उन्होंने नूपुर शर्मा का समर्थन करते हुए उन्हें बहादुर महिला बताया।

 

अशफाक ने आगे लिखा- बड़े हो जाओ यारों। दुनिया में आंतकवाद फैलाने वाले धर्मों को त्यागो और इंसान बनो। ये बस इतना आसान है। मुझे पहले से ही पता है कि इसे पोस्ट करने से मुझे कितनी नफरत मिलेगी और गलत समझे जाने के लिए मैं तैयार हूं क्योंकि आप लोग अभी भी बच्चे हैं। अशफाक का ये पोस्ट सोशल मीडिया पर आग की तरह फैला और लोग कमेंट में ही उन्हें धमकी देने लगे। इसके बाद शनिवार को मुस्लिम भीड़ साद अशफाक अंसारी के घर पहुंची और उससे मारपीट की।

इतना ही नहीं रविवार को मुस्लिम भीड़ फिर अशफाक के घर पहुंची और घर के बाहर प्रदर्शन किया। बाद में उन्होंने महाराष्ट्र के ठाणे जिल के भिवंडी शहर के निजामपुरा पुलिस स्टेशन में साद अशफाक अंसारी के खिलाफ ईशनिंदा का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज करवा दी जिसके बाद पुलिस ने अशफाक को गिरफ्तार कर लिया।

कैसे शुरू हुआ विवाद

बता दें कि वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद मामले को लेकर हो रही टीवी बहस के दौरान नूपुर शर्मा ने पैंगबर मोहम्मद को लेकर एक विवादित टिप्पणी कर दी थी। 27 मई को हुई बहस के दौरान नूपुर ने कहा कि कुछ लोग हिंदू आस्था का लगातार मजाक उड़ा रहे हैं। अगर यही है तो वो भी दूसरे धर्मों का मजाक उड़ा सकती हैं। इसी दौरान उन्हें कुरान का जिक्र कर मोहम्मद साहब पर टिप्पणी कर दी जिसके बाद विवाद शुरू हो गया।

वीडियो वायरल होने के बाद से पांच जून को नूपुर शर्मा को पार्टी के सभी पदों से हटा दिया गया साथ ही उन्हें प्राथमिक सदस्यता से भी निलंबित कर दिया गया। उनके खिलाफ कई जगहों पर एफआईआर दर्ज हो चुकी है। नूपुर को धमकी भी मिल रही है जिसके बाद से दिल्ली पुलिस ने भी एक मामला दर्ज किया है। इसके साथ ही उन्हें सुरक्षा भी प्रदान की गई है।



Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button