Entertainment

जब अक्षय कुमार ने सास डिंपल कापड़िया से कहा- ‘पहले अपने जमाई की सेवा करो’, जानिए क्या है पूरा किस्सा

अक्षय कुमार दिग्गज अभिनेता राजेश खन्ना और अभिनेत्री डिंपल कपाड़िया की बेटी ट्विंकल खन्ना के पति है, उस हिसाब से वे डिंपल कपाड़िया के दामाद हुए। डिंपल कपाड़िया और अक्षय कुमार के बीच काफी अच्छा रिश्ता है।

बॉलीवुड सुपरस्टार अक्षय कुमार ने हिंदी सिनेमा के दिग्गज अभिनेता राजेश खन्ना और अभिनेत्री डिंपल कपाड़िया की बेटी ट्विंकल खन्ना से शादी रचाई है। ऐसे में अक्षय डिंपल कपाड़िया के दामाद हुए। अक्षय और डिंपल के रिश्ते शुरुआत से ही काफी अच्छे रहे हैं। वहीं अक्षय भी अपने दामाद होने का फर्ज बखूबी निभाते हैं। कई मौकों पर अक्षय अपनी सास डिंपल के साथ दिखाई देते हैं। इतना ही नहीं बल्कि अक्षय कुमार कई बार अपनी सास की तारीफ भी कर चुके हैं तो वहीं डिंपल कपाड़िया भी दामाद की तारीफ करने का एक भी मौका नहीं छोड़ती।

Dimple Kapadia dances like free bird in Italy, son-in-law Akshay Kumar shares video | Celebrities News – India TV

खास बात यह है कि, इस दामाद और सासू मां के बीच अक्सर मस्ती भरा रिश्ता भी देखा गया है। एक ऐसा ही किस्सा डिंपल कपाड़िया ने अक्षय कुमार को लेकर बताया कि, कैसे अक्षय कुमार उन्हें परेशान करने के लिए मौका ढूंढते रहते हैं? यहां तक कि वह गहरी नींद में होते हैं फिर भी उनकी टांग खींचने से पीछे नहीं हटते?

When mother-in-law Dimple Kapadia found out the medical history of son-in-law Akshay Kumar. When Dimple Kapadia found out Akshay kuamr medical history | Patrika News | The Indian Nation

ऐसा ही एक खूबसूरत रिश्ता बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार (Akshay Kumar) और उनकी सास डिंपल कपाड़िया (Dimple Kapadia) के बीच भी है, जो ज्यादातर मौके पर एक-दूसरे की तारीफ करते नजर आ जाते हैं। ऐसा हम यूं ही नहीं बल्कि एक इंटरव्यू में डिंपल कपाड़िया ने उस किस्से का जिक्र किया था, जब गहरी नींद में होते हुए भी अक्षय ने उनकी टांग खींचने का कोई मौका अपने हाथ से नहीं जाने दिया था।

दरअसल, यह सारा मांजरा उस समय का है, जब डिंपल कपाड़िया अपनी बेटी ट्विंकल खन्ना के बुक लॉन्च इवेंट में पहुंची थीं। इस दौरान उन्होंने अक्षय संग अपनी क्यूट बॉन्डिंग पर बात करते हुए कहा था ‘अक्षय कुमार मेरे लिए एक बेटे से अधिक हैं। मुझे उनसे जो प्यार है, उसकी तुलना किसी दूसरे से नहीं की जा सकती है। उनके साथ बिताया हुआ समय कभी भी सुस्त पल नहीं होता है। वह हमेशा कुछ न कुछ बात करते रहते हैं, जो आपको कभी भी बोर नहीं होने देती है।

मुझे याद है कि जब मैं एक बार एक पंडित (पुजारी) को बुलाने के लिए कॉल कर रही थी, लेकिन नंबर ठीक से नहीं देख पाने के कारण वह कॉल अक्षय को लग गया था। फिर कॉल पर उधर से अक्षय ने नींद में जवाब दिया और कहा एक काम करो… अपने दामाद की पूरी सेवा करो। तब मुझे एहसास हुआ कि यह पंडित जी नहीं बल्कि अक्षय है, जो मेरे साथ शरारत कर रहे हैं। अक्षय का नेचर छोटे बच्चों की तरह है, जो मुझे बहुत पसंद है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button