Hindi Articles

रामायण के ‘रावण’ अरव‍िंद त्रिवेदी का नि’धन, सेलेब्स ने जताया शोक

लोकप्र‍िय सीर‍ियल रामायण में रावण का किरदार निभाने वाले एक्टर अरव‍िंद त्रिवेदी का नि’धन हो गया है. वे 82 साल के थे. खबर है कि अरव‍िंद त्रिवेदी लंबे समय से बीमार चल रहे थे और पिछली रात हा’र्ट अ’टै’क आने की वजह से उनका नि’धन हो गया. एक्टर की मौ’त की पुष्ट‍ि उनके भतीजे कौस्तुभ त्रिवेदी ने की है. अरव‍िंद के निधन पर उनके साथ काम कर चुके स्टार्स ने शोक जताया है.

रामायण के राम यानी एक्टर अरुण गोव‍िल ने ट्वीट किया- ‘आध्यात्मिक रूप से रामावतार का कारण और सांसारिक रूप से एक बहुत ही नेक, धार्मिक, सरल स्वभावी इंसान और मेरे  अतिप्रिय मित्र अरविंद त्रिवेदी जी को आज मानव समाज ने खो दिया. नि:संदेह वे सीधे परमधाम जाएंगे और भगवान श्रीराम का सानिध्य पाएंगे.’

सुनील लहरी ने अरव‍िंद त्रिवेदी की दो तस्वीरें साझा कर ट्वीट किया- ‘बहुत दुखद समाचार है कि हमारे सबके प्यारे अरव‍िंद भाई (रामायण के रावण) अब हमारे बीच नहीं रहे. भगवान उनकी आत्मा को शांती दे…मेरे पास शब्द नहीं हैं, मैंने एक पिता समान शख्स को खो दिया है, मेरे मार्गदर्शक, शुभचिंतक और सज्जन व्यक्त‍ि.’ दीप‍िका चिखल‍िया ने इंस्टाग्राम पर पोस्ट साझा कर लिखा- ‘उनके पर‍िवार के प्रति मेरी संवेदनाएं…एक बहुत शानदार इंसान थे..’

मई में उड़ी थी अरव‍िंंद त्रिवेदी के नि’धन की अ’फवाह कुछ समय पहले मई महीने में अरव‍िंद त्रिवेदी के निधन की अ’फवाह उड़ी थी. उस वक्त सुनील लहरी ने इन खबरों का खंडन किया था. सुनील ने पोस्ट शेयर कर कहा था- ‘आजकल कोई ना कोई बुरी खबर सुनने को मिलती है, कोरोना की वजह से, ऊपर से अरव‍िंद त्रिवेदी (रावण) की झूठी खबर. मेरी प्रार्थना है झूठी अफवाह फैलाने वालों से कृप्या करके इस तरह की खबर ना फैलाएं. भगवान की दया से अरव‍िंद जी ठीक हैं और प्रार्थना करता हूं कि भगवान उन्हें स्वस्थ रखें.’

300 हिंदी-गुजराती फिल्मों में किया काम अरव‍िंद त्रिवेदी का जन्म मध्य प्रदेश के उज्जैन शहर में हुआ था. उन्होंने गुजराती रंगमंच से अपने कर‍ियर की शुरुआत की थी. गुजराती सिनेमा में कई वर्षों तक उनका योगदान रहा. गुजराती दर्शकों के बीच उन्हें अच्छी खासी पहचान मिली और अपने शानदार अभ‍िनय के लिए वे सम्मान‍ित भी किए जा चुके हैं. अरव‍िंद त्रिवेदी ने कम से कम 300 हिंदी और गुजराती फिल्मों में काम किया है. अभ‍िनय के अलावा राजनीति के मैदान में भी अरव‍िंंद त्रिवेदी ने अपनी किस्मत आजमाई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button