Hindi Articles

अंतिम वक्त में ‘नट्टू काका’ नहीं पी पा रहे थे पानी की एक बूंद, ‘बागा’ ने सुनाई दर्द भरी दास्तां

नई दिल्ली: ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ (Taarak Mehta Ka Ooltah Chashmah) के दिग्गज एक्टर नट्टू काका यानी घनश्याम नायक (Ghanshyam Nayak) अब इस दुनिया में नहीं रहे. घनश्याम नायक पिछले कई महीने से कैं’सर से जं’ग ल’ड़ रहे थे. रविवार को एक्टर ने अंतिम सांस ली. कुछ महीने पहले उनके दो ऑपरेशन्स भी हुए थे.

77 साल की उम्र में उन्होंने दुनिया को अलविदा कहा. आज एक्टर का अंतिम संस्कार किया गया. अंतिम संस्कार की तस्वीरें भी सामने आई हैं. इसके बीच शो में बागा का किरदार निभाने वाले तन्मय वकारिया ने बताया कि घनश्याम नायक के अंतिम दिन कैसे बीते.

तन्मय ने बताया आखिरी दिनों का हाल घनश्याम नायक की बीमारी के बाद तन्मय वकारिया यानी ‘बागा’ उनके परिवार के साथ संपर्क में थे. टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए एक इंटरव्यू में तन्मय ने कहा, ‘वह पिछले 2-3 महीनों से बहुत तकलीफ में थे और मुझे लगता है कि अब वह एक बेहतर जगह पर हैं. मैं लगातार उनके बेटे से संपर्क में था.

उन्होंने बताया था कि वो बहुद द’र्द में थे और इसकी वजह से वो अजीब व्यवहार करने लगे थे. न तो वह खाते थे और न ही पानी पी पा रहे थे. वो बहुत मुश्किल वक्त से गुजर रहे थे. एक तरह से अब वो भगवान के पार सुरक्षित हैं. उनकी आत्मा को शांति मिले.’

काम के लिए थे जुनूनी तन्मय ने आगे कहा, ‘मैं हमेशा घनश्याम जी को एक अच्छे व्यक्ति के रूप में याद करूंगा. मुझे नहीं लगता है मैं उनके जैसे किसी व्यक्ति से कभी मिल पाऊंगा. वो बहुत ही सिंपल थे. मैंने उन्हें कभी किसी के बारे में गलत बोलते नहीं सुना. वो हमेशा सकारात्मक बातें करते थे. अपने काम को लेकर वो हमेशा उत्साहित रहते थे. मैं और पूरा ‘तारक मेहता’ का परिवार उन्हें हर दिन याद करेगा.’

इन फिल्मों में आए नजर घनश्याम नायक को भले ही ‘नट्टू काका’ के रोल से पहचान मिली, लेकिन अपने छह दशक के लंबे करियर में उन्होंने कई यादगार किरदार निभाए हैं. उन्होंने कई बड़ी फिल्मों काम किया, इनमें ‘बेटा’, ‘लाडला’, ‘क्रांतिवीर’, ‘बरसात’, ‘घातक’, ‘चाइना गेट’, ‘हम दिल दे चुके सनम’, ‘लज्जा’, ‘तेरे नाम’, ‘खाकी’ और ‘चोरी चोरी’ जैसी कई फिल्में शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button