Hindi Articles

शाहरुख खान से नफरत करती थीं गौरी की मां, भाई ने बंदूक की नोंक पर दी थी दूर रहने की धमकी

बॉलीवुड के मशहूर एक्टर शाहरुख खान और गौरी खान की जोड़ी हिंदी सिनेमा की पसंदीदा जोड़ियों में से एक है। दोनों की मुलाकात एक पार्टी के दौरान हुई थी और पहली नजर में ही शाहरुख खान, गौरी को दिल दे बैठे थे। सालों तक रिलेशनशिप में रहने के बाद शाहरुख खान और गौरी खान ने साल 1991 में शादी कर ली थी। हालांकि उनसे शादी के लिए किंग खान को काफी पापड़ बेलने पड़े थे। जहां एक तरफ उनकी सासू मां उनसे नफरत करती थीं तो वहीं गौरी के भाई ने भी शाहरुख को दूर रहने के लिए कहा था।

शाहरुख खान और गौरी से जुड़ी इस बात का खुलासा ‘किंग ऑफ बॉलीवुड: शाहरु खान एंड द सिडक्टिव वर्ल्ड ऑफ इंडियन सिनेमा’ में पत्रकार अनुपमा चोपड़ा ने किया था। उन्होंने बताया था कि शाहरुख खान को अपने प्यार को पाने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा था। भले ही वह ‘फौजी’ सीरियल के जरिए करियर की अच्छी शुरुआत कर चुके थे, लेकिन इसके बाद भी गौरी के माता-पिता ने उन्हें रिजेक्ट कर दिया था।

अनुपमा चोपड़ा ने शाहरुख खान के बारे में बताया था कि उनके ससुर रमेश छिब्बर ने पूर्व राष्ट्रपति जाकिर हुसैन के साथ काम किया था और उन्हें इंडस्ट्री के बारे में काफी कुछ पता चला था। ऐसे में उन्हें शाहरुख खान के धर्म से ज्यादा उनके करियर से परेशानी थी। वहीं दूसरी ओर गौरी की मां सविता छिब्बर को भी शाहरुख पसंद नहीं थे।

किताब के मुताबिक गौरी खान की मां को शाहरुख पर्दे पर तो पसंद थे, लेकिन वह नहीं चाहती थीं कि गौरी से उनकी शादी हो। उन्होंने शाहरुख और गौरी का साथ तुड़वाने के लिए ज्योतिष तक का सहारा ले लिया था। मां के अलावा गौरी के भाई विक्रांत को भी किंग खान बिल्कुल भी पसंद नहीं थे। ऐसे में उन्होंने एक्टर को बंदूक की नोंक पर धमकी भी दी थी।

इस बारे में अनुपमा चोपड़ा ने लिखा, “विक्रांत की छवि एक गुंडे के रूप में बनी हुई थी। उन्होंने शाहरुख खान को बंदूक की नोंक पर धमकी भी दी थी, लेकिन इसके बाद भी शाहरुख खान ने गौरी का साथ नहीं छोड़ा था।” अपने एक इंटरव्यू में शाहरुख खान ने बताया था कि गौरी का पूरा परिवार पुराने ख्यालात का था। उनके रिसेप्शन में भी लोग यह फुसफुसा रहे थे, ‘अरे यह तो मुस्लिम लड़का है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button