Hindi Articles

जब पद्मिनी कोल्हापुरी को मा’रने दौड़ पड़े थे संजय दत्त, बेहद खफा हो गए थे सुनील दत्त; बेटे को दी थी ये सजा!

संजय दत्त और पद्मिनी कोल्हापुरी फिल्म विधाता, बेकरार, कु’र्बानी रंग लाएगी और दो दिलों की दास्तां जैसी फिल्मों में साथ काम कर चुके हैं। फिल्म विधाता की लॉन्च पार्टी के वक्त का एक किस्सा है जब संजय दत्त श’राब के न’शे में धु’त होकर इस पार्टी में पहुंचे थे।

तब वहां मौजूद गेस्ट फिल्म के हीरो का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे, लेकिन जब संजय दत्त आए तो पार्टी का सारा माहौल ही बदल गया था। ये पार्टी मुंबई के सी रॉक (Sea Rock) होटल में रखी गई थी। पार्टी में गेस्ट के रूप में सेलेब्स और बाकी लोग भी शामिल थे।

संजय का इंतजार करते-करते काफी वक्त गुजर चुका था। ऐसे में संजय दत्त अपने हिसाब से आए। जब संजय वेन्यू में पहुंचे तो लोगों को अहसास हुआ कि संजय दत्त न’शे में धुत हैं। असल परेशानी तब शुरू हुई जब संजय दत्त के हाथ एक चा’कू लग गया। इस बीच संजय दत्त उस चा’कू को हाथ में लेकर फिल्म की एक्ट्रेस पद्मिनी कोल्हापुरी के पास जा पहुंचीं।

पद्मिनी ने जब संजू को चा’कू हाथ में लिए अपने करीब आते देखा तो वह बहुत ड’र गईं और जोर जोर से पार्टी में चि’ल्लाने लगीं। वह संजय को देख कर भागीं तो संजय भी उनके पीछे दौ’ड़ने लगे। इस घटना से पूरी पार्टी का माहौल ख’राब हो गया। ऐसे में इस घ’ट’ना की खबर हर अखबार में छ’प गई। जब यही खबर उड़ते हुए संजय दत्त के पिता सुनील दत्त के पास जा पहुंची तो वह आग बबूला हो गए।

सुनील दत्त ने उस दिन ठान लिया था कि अब वो संजू का पक्का इ’ला’ज करेंगे। संजय उस दिन जब घर लौटे तो उनके पिता ने उन्हें काफी डां’ट लगाई। इसके बाद सुनील दत्त ने फैसला लिया कि संजय दत्त को वह अमेरिका में एक Rehab Centre भेज देंगे। इसके बाद संजय दत्त को अगले ही दिन सुनील दत्त ने अमेरिका के लिए रवाना कर दिया। इसके बाद संजय दत्त अमेरिका से नॉर्मल होकर लौटे थे।

संजय दत्त ने फिल्म रॉकी से अपने करियर की शुरुआत की थी। इस फिल्म को लेकर संजय दत्त की फैमिली बहुत एक्साइटेड थी। लेकिन संजय दत्त की इस फिल्म की रिलीज से पहले ही मां नरगिस दत्त की मौत हो गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button