Hindi Articles

शाहरुख खान की फैमिली History, जिसका डर था वो ही हो गया King Khan के साथ

शाहरुख खान इस समय खुद को बेहद लाचार और बेबस महसूस कर रहे हैं क्योंकि उनके लाख यतनों के बाद भी वह बेटे आर्यन खान को जमानत नहीं दिला पा रहे हैं ऐसे में किंग खान की कहीं हुई बात ही सही साबित हुई नजर आ रही है कि उनका नाम ही उनके बच्चों की जिंदगी खराब करेगा। जिस बात का उन्हें डर था वहीं बात किंग खान की सच साबित हुई।

दरअसल, 2008 में उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा था- ‘मेरी पॉपुलैरिटी मेरे बच्चों की लाइफ खराब कर सकती है और मैं ऐसा कभी नहीं चाहूंगा। मेरा सबसे बड़ा डर बच्चों को लेकर है, मैं उम्मीद करता हूं कि वो मेरी छाया से दूर रहें और मेरी पॉपुलैरिटी का उनपर गलत असर ना पड़े।’

उन्होंने ये भी कहा था, ‘मैं उनके पिता के तौर पर पहचाना जाना चाहता हूं ना कि उनकी पहचान मेरे बच्चों के तौर पर बनकर रह जाए।’

बता दें कि शाहरुख खान ने अपने दम पर इंडस्ट्री में पहचान बनाई है। उन्हें इंडस्ट्री में किंग ऑफ रोमांस का खिताब मिला है। शाहरुख नॉन फिल्मी बैकग्राउंड से थे और इस मुकाम को पाने के लिए शाहरुख ने बहुत मेहनत की है। तब जाकर उन्हें ये नाम ये शोहरत हासिल हुई है। उनका परिवार ज्यादा रईस नहीं था चलिए आज के इस पैकेज में आपको शाहरुख की फैमिली हिस्ट्री आपको बताते हैं। उनके जीवन की हर छोटी बड़ी जानकारी के लिए वीडियो को आखिर तक जरूर देखें।

दिल्ली के रहने वाले शाहरुख पठानी और हैदराबादी मिश्रित संपन्न मुस्लमान फैमिली से संबंध रखते हैं। उनके पिता मीर ताज मोहम्मद खान एक बिजनेस मैन थे। वह अपना एक रेस्टोरेंट चलाते थे जिनसे उन्हें अच्छी खासी कमाई हो जाती थी। उन्होंने पठान परिवार से ताल्लुक रखने वाली महिला लातिफ फातिमा से साल 1948 में शादी कर ली थी। शाहरुख की मां पेशे से मेजिस्ट्रेट और एक सोशल वर्कर थी और शादी के बाद भी उन्होंने करियर जारी रखा लेकिन जब उनके घर दोनों बच्चे हुए तो परिवार और बच्चों को संभालने के लिए उन्होंने अपनी जॉब छोड़ दी।

जिंदगी ऐसे ही आगे बढ़ती गई लेकिन साल 1985 में शाहरुख के पिता काफी बीमार हो गए। उन्हें कैंसर हो गया था जिसके चलते 3 महीने के भीतर ही उनकी मौत हो गई। उसके बाद मां ने ही घर को संभाला लेकिन पिता के जाने के पांच साल बाद शाहरुख की मां भी दुनिया को अलविदा कह गईं। परिवार में शाहरुख खान की बहन ही थी जो उनके साथ थी उनका नाम शहनाज लाला-रुख खान है। शहनाज आज भी अपने भाई के साथ ही रहती हैं। वह करीब 60 साल की हैं लेकिन उन्होंने शादी नहीं की, वजह थी शहनाज की मानसिक हालत ठीक ना होना। माता पिता को बेहद कम उम्र में खोने का असर शहनाज के दिलो-दिमाग पर ऐसा पड़ा की वह कभी उस सदमे से उभर ही नहीं पाई।

दिल्ली में पले बढ़े शाहरुख ने वहीं से अपनी स्कूलिंग की और ग्रैजुएशन हंसराज कॉलेज से की। वहीं बात उनके स्ट्रगलिंग पीरियड की करें तो शाहरुख को एक्टिंग में कोई दिलचस्पी नहीं थी बल्कि स्पोर्ट्स में इंट्र्स्ट था लेकिन उन्हें खेलते समय गहरी चोट लग गई जिसके बाद उन्होंने खेलना बंद कर दिया। फिर शाहरुख ने स्टेज शो करने शुरू करें। कॉलेज में भी वह स्टेज शो के दौरान बॉलीवुड स्टार्स की मिमक्री करते थे। बस फिर उन्होंने इसी को अपना करियर बनाने का सोच लिया। उन्होंनें दिल्ली से ही ड्रामा स्कूल से एक्टिंग का कोर्स शुरू किया। इस दौरान शाहरुख खान के माता-पिता चल बसे। अपनी बीमार बहन की देखभाल करने और करियर बनाने के लिए शाहरुख खान मुंबई आ गए।

काफी स्ट्रगल के बाद उन्होंने छोटे पर्दे के सीरियल फौजी में क मांडो अभिमन्यु का किरदार मिला। जिसे उन्होंने बखूबी निभाया इसी के चलते उन्हें कई और सीरियल्स के ऑफर भी आए लेकिन शाहरुख बड़े पर्दे पर काम करना चाहते थे। 3 साल के लंबे संघर्ष के बाद उन्हें दीवाना फिल्म में काम करने का मौका मिला। इस फिल्म में ऋषि कपूर और दिव्या भारती थे। शाहरुख की पहली ही फिल्म सुपर-डुपर हिट रही। जिसके चलते शाहरुख की भी किस्मत चमक गई और वह बन गए इंडस्ट्री के चमकते सितारे। उसके बाद शाहरुख के पास फिल्मों के एक नई कई ऑफर आए जिसे उन्होंने असेप्ट भी किया और आगे बढ़ते गए। बाजीगर, डर और दिल वाले दुल्हनियां ले जाएंगे, कुछ कुछ होता है उन्हीं फिल्मों से एक है। इसी तरह शाहरुख आगे बढ़ते गए।

पर्सनल लाइफ की बात करें तो शाहरुख खान ने अपनी लाइफ में एक ही लड़की से प्यार किया जो आज उनकी पत्नी हैं गौरी खान। दोनों की लवस्टोरी किसी फिल्मी स्टोरी से कम नहीं है। दिल्ली की एक पार्टी में उनकी मुलाकात गौरी से हुई थी। पहले तो गौरी ने कोई भाव नहीं दिया लेकिन बाद में वह भी शाहरुख को पसंद करने लगी। बस मौका देखते ही शाहरुख ने गौरी को प्रपोज किया और दोनों ने शादी कर ली। हालांकि गौरी हिंदू थी और शाहरुख मुस्लमान लेकिन दोनों के प्यार के बीच धर्म की दीवार नहीं आई। गौरी और शाहरुख ने दोनों ही रीति-रिवाज से शादी की। पहले गौरी शाहरुख का निकाह हुई जिसमें गौरी का नाम आयशा रखा गया और बाद में 25 अक्तूबर 1991 को हिंदू रीति-रिवाज से हुई। शाहरुख अपने करियर के स्ट्रगलिंग पीरियड के दौरान ही शादी कर चुके थे। गौरी एक इंटीरियर डिजाइनर हैं जो कई सैलेब्स के घर को डिजाइन कर चुकी हैं।

दोनों के तीन बच्चे हैं आर्यन, सुहाना और अबराम। फिलहाल इन दिनों आर्यन खान ड्रग्स केस को लेकर सुर्खियों में बने हुए हैं जिसके चलते खान परिवार काफी परेशान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button